जम्मू और कश्मीर के हंदवाड़ा में आतंकियों के साथ मुठभेड़ में सेना के कर्नल, मेजर और तीन जवान शहीद हो गए. वही हंदवाड़ा में सुरक्षा बलों ने एक मुठभेड़ में दो आतंकियों को ढेर कर दिया। इसमें 5 सुरक्षा कर्मी भी शहीद हो गए 28 अप्रैल को कुपवाड़ा जिले के हंदवाड़ा के राजवारा के जंगलों में सुरक्षा बलों को आतंकियों के होने की जानकारी मिली.इसके बाद सर्च ऑपरेशन शुरू किया गया. और 1 मई को दिन पहली बार आतंकियों से आमना-सामना हुआ.इस दौरान आतंकी यहां से फरार हो गए

इसके बाद आतंकियों ने हंदवाड़ा में 11 नागरिकों को बंधक बनाया और वह एक घर में छिप गए.  2 मई को हंदवाड़ा में घर को घेरने को लेकर ऑपरेशन शुरू किया गया ये सेना और जम्मू-कश्मीर पुलिस का ज्वाइंट ऑपरेशन था

एक अधिकारी के अनुसार कि जैसे ही टीम अंदर की ओर बढ़ी, घर के एक छोर से फायरिंग शुरू हो गई। घर में आतंकी छुपे हुए थे और वहीं से वे फायरिंग कर रहे थे।.मुठभेड़ में दो आतंकी ढेर गए , दो आतंकियों को हमने पहले ढेर कर दिया था, लेकिन घर में दो आतंकी और मौजूद थे जो लगातार फायरिंग कर रहे थे. इन्हीं की फायरिंग में  अपने जवानों को खोया हैं।हालांकि इस पूरे मुठभेड़ में सुरक्षा कर्मी नागरिकों को बचाने में सफल रहे.

शहीद सुरक्षाकर्मियों में कर्नल आशुतोष शर्मा, मेजर अनुज सूद, नायक राजेश, लांस नायक दिनेश के साथ जम्मू कश्मीर पुलिस के सब इंस्पेक्टर काजी पठान हैं.